दिल्ली में फ्लैट्स

  • Home
  • दिल्ली में फ्लैट्स
दिल्ली में फ्लैट्स

दिल्ली में फ्लैट्स

  • 07 July, 2022
  • By Admin: admin
  • Comments: 00

दिल्ली में फ्लैट्स: एक घर खरीदना कई लोगों के जीवन(people’s lives) में मील का पत्थर होता है. घर खरीदने के लिए कई लोग बड़ा लोन पास कराते हैं तो कई अपनी लगभग सारी जमापूंजी (all deposit) लगा देते हैं. प्रॉपर्टी खरीदना एक बेहतर निवेश भी समझा जाता है. इसलिए घर खरीदने का फैसला बहुत सोच-समझकर करना चाहिए। अपना खुद का घर खरीदना कोई आसान काम नहीं है। आपको संपत्ति के हर पहलू की जांच करनी होगी क्योंकि घर केवल एक बार ही ख़रीदा जाता है। हमारी टीम आपकी ज़रूरत, पसंद और बजट को समझती है और फिर आपको प्रॉपर्टी दिखाती है। हमारे पास हमारी लीगल टीम है जो Documents के संबंध में आपकी सभी समस्याओ का समाधान करती है। सस्ता घर अपना हर वो प्रयास करता है जिससे सबके पास हो घर अपना। दिल्ली में फ्लैट्स

हमारे पास आपको सभी तरह की प्रॉपर्टी मिल जाती है।  1BHK, 2 BHK, 3 BHK, 4 BHK , Under- Construction & ready to move सभी तरह की प्रॉपर्टी मिल जाती है।  सभी फ्लैट्स लोन फैसिलिटी के साथ मिलते है।  जो की आपको आपके घर के सपने के एक कदम और पास ले जाती है।  सस्ता घर एक मात्र ऐसी जगह है। जहा आपको प्रॉपर्टी से सम्बंधित सभी समस्याओ का समाधान मिलेगा “क्योकि घर आपका प्रयास हमारा”

एक घर को लेने से पहले हमारे मन में काफी सवाल आते है। घर लेने से पहले आपको कुछ पहलुओं पर जरूर ध्यान देना चाहिए.

  • मकान खरीदने से पहले उसके कारपेट एरिया का आकलन अपनी जरूरत के अनुसार कर लें. मकान का बिल्ट-अप एरिया और कारपेट एरिया अलग होते हैं. कारपेट एरिया में मकान की दीवारों के अंदर का वास्तविक एरिया होता है. बिल्ट-अप एरिया में बाहरी दीवारों और बालकनी वगैरह का एरिया भी जोड़ा जाता है
  • मकान की कनेक्टिविटी दूसरा महत्वपूर्ण पहलू है. यह जरूर सुनिश्चित करें कि जहां मकान है वहां से यातायात के साधन व अन्य सुविधाएं जैसे मेट्रो, रेलवे स्टेशन, अस्पताल, स्कूल व खाने-पीने की जगह दूर न हों.
  • जहां भी आप मकान ले रहे हैं वहां पहले से रहे लोगों की राय जरूर लें. उनके मतों के बारे में जानें. ऐसा माना जाता है कि व्यक्ति समान विचारधाराओं वाले लोगों के साथ स्पेस शेयर करने में ज्यादा सहज महसूस करता है.
  • कोई भी संपत्ति खरीदने से पहले एक कानूनी विशेषज्ञ को नियुक्त करें और सभी दस्तावेजों का आकलन करें. संपत्ति से जुड़ी कागजी कार्रवाई जटिल होती है और कई बार लोग इस में उलझ जाते हैं.
  • सुनिश्चित करें कि प्रॉपर्टी खरीदने के बाद उसके रख-रखाव में आने वाले खर्च आपके बजट में फिट बैठता हो. इसलिए रख-रखाव से जुड़े विभिन्न शुल्कों के बारे में अच्छे से जानकारी जुटा लें

सस्ता घर केवल वेरिफ़िएड प्रॉपर्टी ही आप तक ले कर आता है और अपना हर वो प्रयास करता है की आप सभी के पास हो घर अपना ।  दिल्ली में फ्लैट्स । 

अगर आप भी दिल्ली में घर लेना चाहते है तो एक बार जरूर Visit करे। अपनी visit schedule करने के लिए यहां क्लिक करे :SCHEDULE YOUR SITE VISIT

Leave Comments

Call Now Button